लसीका और रूधिर में क्या अंतर है?Laseeka aur rudhir m antar

लसीका रूधिर
1:- लसीका द्रव रंगहीन होता है । 1:- रुधिर का रंग लाल होता है ।
2:- लसीका में लाल रुधिर कणिकाएँ ( RBCs ) कम संख्या में होती हैं । 2:- रुधिर में लाल रुधिर कणिकाएँ ( RBCs ) अधिक संख्या में होती हैं ।
3:- लसीका में श्वेत रुधिर कणिकाएँ( WBCs ) अधिक संख्या में होती हैं। 2:- रुधिर में लाल रुधिर कणिकाएँ ( RBCs ) अधिक संख्या में होती हैं ।
4:- लसीका में फाइब्रिनोजेन ( Fib-rinogen ) की मात्रा कम होती है, फिर भी थक्का जमने की शक्ति इसमें निहित होती है । 4:- रुधिर में फाइब्रिनोजेन ( Fib-rinogen ) की मात्रा अधिक होती है जिससे यह आसानी के साथ थक्का बन जाता है ।


Ghostwriter Doktorarbeit